Friday, February 10, 2012

Origin of words ‘flower’ and ‘fruit’ ‘फूल’ और ‘फल’ शब्द कहाँ से आए होंगे






Fly in a time machine with Rajendra Gupta when our ancestors are trying to coin words to describe a flower and a fruit...राजेंद्र गुप्ता के साथ टाइम मशीन में उड़िये। इस बार पुरखे ‘फूल’ और ‘फल’ शब्द की रचना कर रहे हैं...   




We observed in the last walk that based on the sound KHAT-KHAT on striking wood on the ground, our ancestors were crafting new Sanskrit words for hardness: KATHOR and KATHIN and their use to coin words for hard-to-crack coconut. Today, we have flown in the time machine to be in an era when the whole sentence consists of a single letter. Our ancestors make poetry by singing one letter in different tunes!
पिछली यात्रा में हमने देखा था कि कैसे जमीन पर लकड़ी की कट-कठ आवाज से पुरखों ने कठोरकठिन शब्दों को तराशा और जिनका उपयोग उन्होने तोड़ने में कठिन नारियल के लिए किया। आज हम टाइम मशीन में उड़ कर उस युग में जा पहुँचें है जहां हमारे पुरखों की भाषा में पूरा वाक्य ही एक अक्षर का है, वे एक अक्षर को विभिन्न प्रकार से गा-गा ही कविता करते हैं!

Let’s hear our ancestors coining words for flower and fruit. Some ancestors are trying to tell others that they should all move to another place with a lot of fruiting trees. How do they tell it in the absence of any word for fruit? Whenever a flower bud or a fruit begins to grow, there is a swelling on the plant. The ancestors are communicating this swelling by blowing air. The swollen cheeks are the symbol of fruits or flowers. In this process, air blows out of mouth with the sound phoo..
This ‘phoo’ sound is the base for construction of words for flowers and fruits...
आइये हम सुनते है कि वे पहली बार किसी फूल या फल के लिए शब्दों का निर्माण कैसे कर रहे हैं। कुछ पुरखे अपनी टोली के दूसरे सदस्यों को बताना चाह रहे हैं कि दूसरी जगह चलें जहां पेड़ों पर फल लगे हैं। कैसे बताएँ ? फल के लिए भाषा में कोई शब्द ही नहीं है। पौधे की डाली पर कोई कच्चा फूल आते ही या फिर फल बनते ही उस स्थान पर थोड़ा सा फुलाव आ जाता है। वे उसी फुलाव को दर्शाने के लिए अपने गालों को फुला रहे हैं। समझने वाले समझ गए हैं। टोली में उल्लास है। इसी क्रम में फूले हुए गालों से हवा निकल रही है और लंबी सी फू.... की  ध्वनि..
बस यहीं से शुरू हो रहा है फूलों और फलों के लिए शब्दों का निर्माण....   


PHOO
PHOOY
PHOOR >BOOR> BAUR (mango flower in Sanskrit)
PHOOL (flower in Indic languages)
PHULL (flower in Indic languages)
PRAPHULL(flower in Indic languages)
PRAPHULL PRAPHULL
PHULLPRA
PHULLBRA
PHULAVAR
PHLOVAR
FLOWER
फू...
फूय
फूर > बूर >बौर (आम का फूल)
फूल>
फुल्ल
प्रफुल्ल
प्रफुल्ल प्रफुल्ल
फुल्लप्र
फुल्लब्र
फुल्लबर
फुल्लवर
फल्लूवर
फ्लोवर (अँग्रेजी)


PHOOL
PHAL (fruit in Indic languages)
PHAR
PHER
BER (Plum in Hindi)
फूल
फल
फर
बर
बेर


PHAL
PHALAM
PALAM
PLUM
फल
फलम
पलम
प्लुम (आलूबुखारा)


PHAL
BAL
BEL > BAEL
BILYA
BILVA (bael tree in Sanskrit)
फल
बल
बेल
बिल्य
बिल्व (संस्कृत में बेल)
PHAL
PHALAN
MALAN
MELON
फल
फलन
मलन
मेलोन (अँग्रेजी में खरबूजा)


TARU (=tree) + PHAL (=fruit)
TARU.PHAL
PHAL.TARU
PHALRUT
FALRUT
FAYRUT
FRYAUT
FRUIT
तरु + फल
तरुफल
फलतरु
फरतरु
फयतरु
फयरुत
फरुयत
फ्रूअत (अँग्रेज़ी में फल)


PHAL
AA+ PHAL
AAPHAL
AAFFAL
AAPFAL
APFEL(German)
APPLE (English)
फल
आफल
आफ्फल
आप्फ़ल (जर्मन में सेब)
आप्पल
एप्पल (अँग्रेज़ी में सेब)


PHALA
PHALAS >PHALSA (a tropical fruit)
PHALAS
PHARAS
PYRAS
PYRUS (Latin, apple)
फल
फलस > फालसा
फलस
फरस
परस
पायरस (लैटिन में सेब)


Let’s return from the past to the present times and check the dictionaries for etymology of flower and fruit
आइये लौट चलें अतीत से वर्तमान में, और देखें कि शब्दकोश में क्या लिखा है:
Word Origin & History

flower

c.1200, from O.Fr. flor, from L. florem (nom. flos) "flower" (see flora), from PIE base *bhlo- "to blossom, flourish" (cf. M.Ir. blath, Welsh blawd "blossom, flower," O.E. blowan "to flower, bloom"). Modern spelling is 14c. Ousted O.E. cognate blostm (see
blossom). Also used from 13c. in sense of "finest part or product of anything." The verb is first recorded early 13c. Related: Flowered; flowering. Flower children "gentle hippies" is from 1967.
COLLAPSE

Online Etymology Dictionary, © 2010 Douglas Harper  
Word Origin & History

fruit
late 12c., from O.Fr. fruit, from L. fructus "fruit, produce, profit," from frug-, stem of frui "to use, enjoy" (cognate with O.E. brucan "to enjoy," see brook (v.)). Older sense preserved in fruits of one's labor. Originally in English meaning vegetables as well. Modern narrower
sense is from early 13c. Meaning "odd person, eccentric" is from 1910; that of "male homosexual" is from 1935.
COLLAPSE
Online Etymology Dictionary, © 2010 Douglas Harper




2 comments: